Breaking News

अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा क्षेत्र में शराब की बिक्री पर बैन, शिफ्ट की जाएंगी दुकानें

Ayodhya में 84 कोसी परिक्रमा क्षेत्र में शराब की बिक्री पर बैन, शिफ्ट की जाएंगी दुकानें

अयोध्या : रामनगरी अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले पूरी तरह शराब की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। रामनगरी अयोध्या को शराब मुक्त घोषित किया जा चुका है। श्रीराम नगर में 84 कोस की परिधि के मार्ग पर शराब की बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया गया है। इस मार्ग से अब शराब की सभी दुकानें हटाई जाएंगी। यह जानकारी आबकारी मंत्री नितिन अग्रवाल ने दी है।

अयोध्या दौरे पर पहुंचे आबकारी विभाग के मंत्री नितिन अग्रवाल ने श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान उन्होंने तमाम विषयों पर चर्चा की। उन्होंने राम मंदिर को शराब मुक्त करने करने के लिए 84 कोस तक शराब की दुकानों को हटाने की बात कही है। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं। 84 कोसी परिक्रमा क्षेत्र को शराब निषेध घोषित किया जा चुका है।

इतनी शराब की दुकानों पर लटका ताला

84 कोस क्षेत्र में शराब की लगभग 600 दुकानें है।अयोध्या जिले में 397 शराब की दुकानें हैं। फैजाबाद में 153 शराब की दुकाने हैं। शराबबंदी के ऐलान के बाद से ये सारी दुकानें बंद कर दी गई हैं। इसका आदेश अधिकारियों को जारी कर दिया गया है। अब 84 कोस मार्ग में आने वाली सभी शराब की दुकानें हटा दी जाएंगी।

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों पर चल रही है। जिसकी वजह से अयोध्या में प्रदेश के मंत्रियों के साथ ही आला अधिकारी का जमावड़ा लग रहा है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री भी आ रहे हैं। प्राण प्रतिष्ठा से पहले 30 दिसंबर को पीएम मोदी श्रीराम एयरपोर्ट का उद्घाटन करने अयोध्या आएंगे। प्राण प्रतिष्ठा को ऐतिहासिक बनाने के लिए पूरी सरकार ने ताकत झोंक दी है। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण श्रेष्ठ कार्यक्रम को लेकर के पूरे अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। जो भी लोग इस दौरान अयोध्या पहुंचेंगे उनको अयोध्या में प्रभु श्री राम के मंदिर के साथ-साथ नव्य, दिव्य और भव्य अयोध्या देखने को मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *