Breaking News

जिंदगी और मौत का सफर: कोरोना मरीज और सुल्तानपुर के 108 एम्बुलेंस कर्मचारी

सुल्तानपुर- एक तरफ कोरोना वायरस के खौफ से पूरा विश्व डरा सहमा है वही 108 एम्बुलेन्स कर्मचारियों का कोरोना मरीजों के साथ सफर जारी है ।जान जोखिम में डालकर कोरोना मरीजों को सेवाएं दे रहे एंबुलेंस कर्मियों का जज्बा काबिले तारीफ है वो भी तब जब इन्हें न वक़्त पर वेतन मिलता है और न ही सुख सुविधाएं ।

आज हम चर्चा करते है यूपी के सुल्तानपुर जिले के108 एम्बुलेंस कर्मियों की । यहां सिर्फ अगस्त महीने में एम्बुलेन्स कर्मियों ने 212 मरीजों को सेवा दी है।जिसमे 45 केस सुल्तानपुर से लखनऊ भेजे गये है। एम्बुलेंस प्रोग्राम मैनेजर सुमित प्रताप सिंह और जिला प्रभारी अभिनन्दन मिश्रा भी सुल्तानपुर दौरे पर आएं

एम्बुलेंस पायलट रामानंद अनुभव साझा करते हुए बताते है कि कई बार हम खाने बैठे होते हैं और मरीज को ले जाने के लिए कॉल आ जाती है तो हम लोग निवाला छोड़ मरीज को मंजिल तक पहुचाने के लिए निकल पड़ते है। सुल्तानपुर में तैनात एंबुलेंस E M T दानवीर इंदरजीत सिंह , पायलट अनुरुद्ध कुमार का मानना है कि इस विषम परिस्थिति में सेवाभाव और जज्बे के साथ काम करने की जरूरत है।