अंधा इश्क़ , गमछे ने खोल दिया हवस और हत्या का राज

अंधा इश्क़ , गमछे ने खोल दिया हवस और हत्या का राज
कन्नौज। कहते है पाप छुपता नही , अपराधी कितना भी शातिर क्यो न हो , कोई न कोई सुराग जरूर छोड़ ही जाता है , ऐसा ही कुछ हुआ उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले के एक खूनी इश्क़ की कहानी में। जिसमे खून पति का, खून करवाने वाली पत्नी निकली, जिसने प्रेम विवाह किया था लेकिन वो दिल फेक निकली। एक बच्चा होने के बाद पड़ोसी छोटे लाल से आँखे चार करने लगी और फिर एक रात वो कर डाला जिससे रिश्ते पर कलंक लग गया। हत्यारे फंसे उस गमछे से जो उसके दूसरे प्रेमी का था।      वारदात कन्नौज जिले के तिर्वा कोतवाली इलाके की है। जहाँ 13 जनवरी को ईश्वर नाम के एक शख्स की लाश सड़क के किनारे पाई गई। लाश के पास से एक गमछा भी मिला। जो कि ईश्वर का नही था ।देखने में ऐसा लगा कि जैसे सड़क हादसा हुआ हो लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने पूरी साजिश को खोल कर रख दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि मौत गला दबाने से हुई है। नतीजतन ईश्वर की मां ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया।फिर पुलिस को तफ्तीश गमछे पर आ टिक गई। छानबीन में पता चला कि गमछा छोटे लाल का है जो कि ईश्वर की पत्नी राधा का मेली मुलाकाती है। पुलिस को हत्या की उलझी गुत्थी सुलझाने में ज्यादा वक्त नही लगा।  ईश्वर की हत्या की परतें खुलती चली गई।  पता चला कि राधा ने अपने प्रेमी छोटे लाल से मिलकर पति ईश्वर की हत्या कराई थी । जिसमे छोटे लाल के दो साथी भी शामिल थे। ईश्वर की हत्या उसी गमछे से की गई थी जो लाश के बगल मिला था। हड़बड़ी में छोटे लाल का गमछा लाश को ठिकाने लगाते वक़्त गिर गया था। 
दो साल के बेटे का क्या कसूर
हत्यारोपी राधा के साथ उसका दो साल का बेटा भी जेल गया है आखिर दो साल के बेटे का क्या कसूर । शायद ये बच्चे की बदकिस्मती ही है जो उसे मां के साथ जेल में रहना पड़ेगा , क्योकि उसकी उम्र महज दो साल है। दो साल के बच्चे को मां से अलग भी तो नही किया सकता।