ठेकेदार की हत्या का खुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार

ठेकेदार की हत्या का खुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार

शाहजहांपुर पुलिस ने 2 दिसंबर को हुई ठेकेदार हत्या का सनसनीखेज खुलासा किया है। जिसकी साजिश विदेश में मलेशिया में रची गई। वही इंडिया में साजिशकर्ता की मां ने शहर में रहकर हत्यारों को हथियार मुहैया कराए।  ठेकेदार की हत्या करने वाले मेरठ के दो शार्प शूटर,  मास्टरमाइंड की माँ सहित 5 लोग गिरफ्तार किए गए हैं । पुलिस ने फरार चल रहे चार लोगों पर 25-25 हज़ार का इनाम घोषित किया है। फिलहाल मास्टरमाइंड को अब विदेश से लाने की तैयारी की जा रही है।

सोशल मीडिया वायरल तस्वीर उस मास्टरमाइंड अभय राज गुप्ता की है जिसने मलेशिया में रहकर शाहजहांपुर में एक सनसनीखेज हत्याकांड को अंजाम दिलाया, और मास्टरमाइंड की मां ने इंडिया में शार्प शूटरों को हथियार मुहैया करवाए। लेकिन कहते हैं कि अपराधी कितना भी शातिर हो लेकिन सुबूत छोड़ ही जाता है।

शाहजहांपुर पुलिस ने 2 दिसंबर को हुए राज के ठेकेदार राकेश यादव की हत्या का सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने मेरठ के रहने वाले दो शार्प शूटर राहुल चौधरी और गौरव जिंदल सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है । पुलिस इंडिया में रहकर हथियार मुहैया कराने वाले मास्टरमाइंड की मां मीता गुप्ता को भी गिरफ्तार किया है । साथ ही शार्प शूटरों की मदद करने वाले दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है ।

दरअसल 2 दिसंबर 2019 को राजकीय ठेकेदार राकेश यादव की ताबड़तोड़ गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी । जिससे शाहजहांपुर से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया था। खुलासे में पता चला कि विदेश में बैठे मास्टरमाइंड अभय राज गुप्ता के परिवार की राकेश यादव के परिवार से पुरानी दुश्मनी चल रही थी । जिसमे पहले दोनों परिवारों के एक-एक सदस्य की हत्याएं हो चुकी थी। क्योंकि राकेश यादव अपने परिवार की रीढ़ की हड्डी था। जिसके चलते अभय राज गुप्ता ने उसकी ही हत्या का षड्यंत्र रचा।

सबसे पहले अभय राज गुप्ता ने अपनी मां के साथ मिलकर इंदौर के रहने वाले शूटर आसिफ के साथ मिलकर 20 लाख रुपए में सुपारी देकर हत्या की योजना तैयार की । हत्या के लिए मेरठ के रहने वाले बेहद शार्प शूटर गौरव जिंदल और राहुल चौधरी को हायर किया गया। हत्या से 3 दिन पहले अभय राज गुप्ता मलेशिया चला गया। 2 दिसंबर को शार्प शूटर राहुल चौधरी गौरव जिंदल और आसिफ में मिलकर पीडब्ल्यूडी ऑफिस में राकेश यादव को दिन दहाड़े हाई सिक्योरिटी जोन में गोलियों से भून कर उसकी हत्या कर दी थी। इस गोलीबारी में राकेश यादव का निजी गनर सोनू भी घायल हुआ था।