DM-SP ने CM योगी से छुपा लिया अयोध्या का सबसे बड़ा घोटाला

DM-SP ने CM योगी से छुपा लिया अयोध्या का सबसे बड़ा घोटाला
भगवान राम की नगरी में एक बड़े घोटाले का मामला सामने आ रहा है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या दौरा कर लौट गए लेकिन न तो डीएम और न ही एसएसपी ने उन्हें इस घोटाले की खबर दी। आखिर क्या है वजह 
 
उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में एक नामी बाजार है कुमारगंज । इसी बाजार के रहने वाले है अजीत गुप्ता। करीब दस साल पहले मास्टर माइंड अजीत गुप्ता ने ऊंची व्याज पर जनता का पैसा जमा करना शुरू किया। तुक्का काम कर गया और अजीत गुप्ता की बाजार चल निकली। फिर क्या था अजीत गुप्ता की टीम बड़ी होने लगी और प्राइवेट कंपनियों की संख्या भी। लोग पैसा जमा करते रहे इसलिए अजीत गुप्ता ने अनी ग्रुप का मोबाइल और डायमंड का कारोबार भी लंच कर दिया लेकिन किसी ने सही कहा है कि कागज की नाव ज्यादा दिन नही चलती आखिर एक दिन वही हुआ जो होना था । निवेशकों के जमा पैसे का भुगतान बंद हो गया और मच गई अफरा तफरी। हालांकि अजीत गुप्ता लगातार दावा करते रहे कि जल्द भुगतान हो जायेगा। विदेश से फंडिंग हो रही है 14 जनवरी से पैसा वापस होना शुरू हो जायेगा। दुबारा कहा 1 फरवरी से पैसा दिया जाएगा तीसरी तारीख 17 फरवरी निश्चित की । मगर हालात नही बदले। अब अनी कंपनी के सीनियर मैनेजर और अजीत गुप्ता के हम प्याला हम निवाला अनिल मिश्रा ने ही आगे आकर 30 करोड़ की पहली एफआईआर अयोध्या जिले के महराजगंज थाने में दर्ज कराई है। पहली बार अयोध्या जिले में इतनी बड़ी रकम की धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज हुई है। रविवार यानी 23 फरवरी को cm योगी अयोध्या में थे ।
 
यकीनन CM योगी ने आलाअफसरों से अयोध्या की कानून व्यवस्था का हाल पूछा होगा लेकिन न तो डीएम और न ही एसपी ने अनी ग्रुप की धोखाधड़ी चुप्पी तोड़ी । जानकारों का मानना है कि अयोध्या जिले से सैकड़ों करोड़ रुपया अनी ग्रुप जमा किया है। अमेठी, सुल्तानपुर, अम्बेडकर नगर, बस्ती, प्रतापगढ़ आदि जिलों से भी मोटी रकम अनी कंपनी ने उठाई है अभी तो 30 करोड़ की पहली एफआईआर दर्ज हुई  है जल्द ही एफआईआर का ऐसा कीर्तिमान बनने की उम्मीद जताई जा रही है जिससे योगी सरकार भी हिल जाएंगी
रिपोर्ट खोजी पत्रकार