निर्भया के गुनाहगारों को डेथ वारेंट जारी

निर्भया के गुनाहगारों को डेथ वारेंट जारी

एनटीटीवी: वक्त भी तिलमिला उठा तेरी चीखों की पुकार से.... घाव पर मरहम तो कचहरी ने लगा दिया.... बहते अश्कों के स्रोत को एक ठहराव भी दिला दिया.... इंसाफ के नाम पर फांसी तो ज़ालिमों को सुना दी गई....पर असल शान्ति तो उसको तब मिले जब कभी निर्भया ना बने कोई..... निर्भया की आबरू तो नहीं बच सकी, पर क़ानून की आबरू बच गई.... जी हां 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में हुए दिल दहला देने वाले निर्भया कांड में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है.... कोर्ट ने निर्भया केस के सभी दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया है..... 22 जनवरी की सुबह 7 बजे मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी दी जाएगी....जी हां अब करीब सात साल बाद निर्भया को इंसाफ मिलेगा... एडिशनल सेशन जज सतीश कुमार अरोड़ा ने आखिरकार बड़ा फैसला सुनाया है....

बता दें, 16 दिसंबर, 2012की तारीख.... जगह दिल्ली के मुनिरका का बस स्टॉप.... जहां से निर्भया और उसका दोस्त बस में चढ़े.... वो नहीं जानते थे कि दिल्ली की बरसती सर्द ठंड ने बस में पहले से मौजूद लोगों के अंदर वाले इंसान को जमा दिया है... एक नाबालिग समेत बस में मौजूद छह लोगों ने निर्भया को अपनी हवस को शिकार बनाया और उसके साथ बर्बरता की.... निर्भया के दोस्त को पीटा, और फिर दोनों को महिपालपुर के पास सड़क किनारे छोड़कर चले गए... निर्भया ने हादसे के 13 दिन बाद सिंगापुर के एलिजाबेथ अस्पताल में दम तोड़ दिया था.....