मुश्किल में आई सरकार, कैसे निकाल पाएगी सोनभद्र से सोना?

मुश्किल में आई सरकार, कैसे निकाल पाएगी सोनभद्र से सोना?

इस समय दुनिया का हर देश हिन्दुस्तान के सोनभद्र जिले पर टकटकी लगाए देख रहा है, और इंतजार कर है कि सोन पहाड़ी पर मिले सोने की खदान पर खुदाई का काम कब शुरू किया जाएगा। हर कोई बस यही देखना चाह रहा है कि देश को कितना सोना मिलने जा रहा है । लेकिन यहां पर खुदाई को लेकर अब पेंच फंसता नजर आ रहा है, दरअसल खुदाई के लिए चिन्हित की गई जमीन का ज्यादातर हिस्सा वन विभाग का है, इसके साथ कुछ हिस्सा निजी हाथों में है। जमीन की खुदाई के लिए सरकार और जीएसआई खनन की तैयारियों में जुटी है तो वहीं अब इसमें फंसे पेंच के चलते कुछ वक्त लगने के भी आसार नजर आ रहे है। सोनभद्र के जिस सोनपहाड़ी पर सोना मिलने की जानकारी मिली है वह जमीन फॉरेस्ट रिजर्व के कब्जे में है, जिसके चलते अब यह फैसला स्थानीय प्रशासन के बजाय राज्य सरकार को मुख्यालय स्तर पर लेना होगा, जिसके चलते खुदाई शुरू होने में वक्त लग सकता है।

सोन पहाड़ी पर जिस जमीन पर सोने की खान मिली है उसकी लम्बाई एक किलोमीटर तक है और चौड़ाई चार किलोमीटर,जहां करीब तीन हजार टन सोना मिलने के आसार हैं। 108 हेक्टेयर के इस जमीन को ई-टेंडरिंग के जरिए नीलामी के आदेश भी जारी कर दिए गए है, भूतत्व और खनिकर्म निदेशालय ने इसकी पुष्टि की है। सोनभद्र के जिला खनन अधिकारी के.के राय के मुताबिक भूतत्व, खनिकर्म विभाग और जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम लगातार इस काम में लगी हुई है। जहां अलग अलग हिस्सों में भू-भौतिकीय सर्वें किया जा रहा है,इस सर्वेक्षण में विद्युत चुम्बकीय और स्पेक्ट्रोमीटर का प्रयोग किया जा रहा है।