कोर्ट ब्लास्ट के फैसले के विरोध में वकीलों का प्रदर्शन जारी

कोर्ट ब्लास्ट के फैसले के विरोध में वकीलों का प्रदर्शन जारी

एनटीटीवी- अयोध्या जिले में वकीलों ने एक बार फिर विरोध प्रदर्शन किया। 23 नवंबर 2007 फैजाबाद कोर्ट ब्लास्ट के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा से नाराज वकीलों ने कोर्ट परिसर में प्रदर्शन किया। वकीलों की मांग है कि दोषी आतंकवादियों को आजीवन कारावास की सजा ना काफी है ऐसे आतंकियों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए।

दरअसल23 नवंबर 2007 को फैजाबाद समेत वाराणसी और लखनऊ की कचहरी में भी सीरियल बम धमाके हुए थे। फैजाबाद कचहरी में दो अलग-अलग स्थानों पर कुछ ही समय के अंतराल पर हुए धमाकों मे वरिष्ठ अधिवक्ता राधिका प्रसाद मिश्र समेत कुल 4 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं 26 लोग घायल हो गए थे। धमाकों के बाद एटीएस को मामले की जांच का जिम्मा सौंपा गया। एटीएस ने बाराबंकी के रेलवे स्टेशन के पास प्रदेश की कचहरियों में सीरियल धमाकों में शामिल चार संदिग्ध आतंकियों तारिक काजमी, मोहम्मद अख्तर उर्फ तारिक, सज्जाद उर रहमान और खालिद मुजाहिद को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। इस मामले की सुनवाई कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मंडल कारागार में बनाई गई विशेष अदालत में चल रही थी। जिस पर विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

अब फैजाबाद अयोध्या बार एसोसिएशन इस सजा का विरोध कर रहा है। बार एसोसिएशन और वकीलों का कहना है कि- आरोपी आतंकियों को आजीवन कारावास की जगह फांसी की सजा दी जाए। इसके साथ ही बार एसोसिएशन हाई कोर्ट जाने की बात भी कह रहा है । हालांकि आला अधिकारियों ने बार एसोसिएशन से बात कर वकीलों के प्रदर्शन को समाप्त कराया।