दिल्ली में शुरू, सुल्तानपुर में लापता प्रेम कहानी

दिल्ली में शुरू, सुल्तानपुर में लापता प्रेम कहानी

दिल्ली में शुरू, सुल्तानपुर में लापता प्रेम कहानी

दिल्ली में शुरू, सुल्तानपुर में लापता प्रेम कहानी

निसार अहमद

Sultanpur: प्यार परवान चढ़ा तो दोनों ने शादी की। पांच महीने पहले एक बच्चा भी हुआ लेकिन अचानक फरेबी प्रेमी लापता हो गया और पांच महीने के बच्चे को गोद में लेकर पत्नी प्रेमी की तलाश कर रही है। लेकिन प्रेमी ने जो पता और ठिकाना बताया था वो भी फर्जी निकल रहा है। ये वाकया दिल्ली से सुल्तानपुर तक जुड़ी उस प्रेम कहानी का है। जिसने पुलिस को भी उलझा दिया है।

दरअसल मंजू पाल नाम की युवती और शशिकांत नाम के शख्स ने दो साल पहले दिल्ली में प्रेम विवाह किया। परिवार हसी ख़ुशी चल रहा था, इसी बीच करीब पांच महीने पहले मंजू ने एक बच्चे को जन्म दिया हाल में ही शशिकांत ने पत्नी मंजू को बताया कि वो अपने घर सुल्तानपुर जा रहा है। मंजू को कोई शक न हुआ लेकिन जब शशिकांत की कई दिनों तक कोई खबर न लगी तो उसके मन में भी अनहोनी की तमाम आशंकाएं उठने लगी। इन्हीं आशंकाओं के बीच मंजू पाल उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में आ पहुंची है। मंजू की माने तो शशिकांत का आधार कार्ड सुल्तानपुर जिले के करौंदिकला थाना इलाके के एक गांव का है, जहां के प्रधान से उसने मुलाकात की। प्रधान ने बताया की शशिकांत नाम का कोई शख्स उनके गांव में नहीं है।

बहरहाल, परेशान मंजू पाल पति की तलाश में अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट रही है। देखना यह होगा कि उसके साथ फरेब तो नहीं हुआ या फिर शशिकांत किसी बड़ी मुसीबत में तो नहीं फंस गया है।