स्मृति ईरानी के क्षेत्र में चल रही 'THE KING OF CORRUPTION' बनने की रेस

स्मृति ईरानी के क्षेत्र में चल रही
अमेठी। एक तरफ प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचार खत्म करने का दमभर रहें है। वहीं अमेठी जनपद में अधिकारियों की खाऊ कमाऊ नीति के चलते ग्राम प्रधान सरकारी धन का बन्दर बांट करने में लगे हैं। ताजा मामला जनपद के विकास खण्ड सिंहपुर के ग्राम पंचायत मिर्जागढ़ का है जहां ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर पूरे महा ब्राह्मण नहर से मिर्जागढ़ खड़ंजा सम्पर्क मार्ग तक मनरेगा के द्वारा कच्ची सड़क का निर्माण कार्य कागजों पर कराया गया है व धन का बंदरबांट किया गया जबकि वर्तमान में इस चकमार्ग पर कोई भी कार्य नही कराया गया। 
 
भभूति निवासी पूरे अड़ा मजरे मिर्जागढ़ जिसका प्रधानमंत्री आवास सूची में वर्ष 2016-17 में क्रमांक संख्या 16 पर आईडी संख्या - UP3005769 को ग्राम प्रधान द्वारा अपने चहेते कुंवारा पत्नी राम मिलन को देने का आरोप लगाया है। जबकि पीड़ित लाभार्थी कच्चे मकान में रहने को मजबूर है। उसके नाम का आवास दूसरे को दे दिया गया। 
वहीं ग्रामीण अंजू पाठक ने शौचालय अधूरा होने के कारण ग्राम प्रधान पर शौचालय का पैसा न देने का लगाया आरोप। 
 
 
ग्राम के कई ग्रामीणों ने आवास के नाम पर फार्म भरने के लिए 200 200 की वसूली करने का लगाया आरोप लगाया है। वहीं विकास के नाम पर कागजी खानापूर्ति कर ग्राम प्रधान व सचिव लाखों रुपये डकार गए। स्मृति ईरानी के क्षेत्र में ग्राम पंचायतों के भ्रष्टाचार पर कब अंकुश लग पायेगा यह तो आने वाला वक्त बताएगा।