Breaking News


Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/u940148537/domains/nttvbharat.com/public_html/wp-content/themes/newsreaders/assets/lib/breadcrumbs/breadcrumbs.php on line 252

कहां भागोगे मुख्‍तार, नहीं छोड़ेने वाली योगी सरकार

जिलाधिकारी गाजीपुर ने मऊ के विधायक मुख्‍तार अंसारी के करीबी गणेश दत्‍त मिश्र का असलहा लाइसेंस रद्द कर दिया है। बताया जा रहा है गाजीपुर के रौजा का रहने वाला गणेश मिश्र पुत्र शिवशंकर मिश्र प्रॉपर्टी डीलर है। जिलाधिकारी गाजीपुर ने यह कार्रवाई प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली गाजीपुर की संस्‍तुति पर की है।

मामले के अनुसार प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली दिलीप कुमार ने शहर के श्री राम कॉलोनी रौजा निवासी गणेश दत्‍त मिश्र को मुख्‍तार गैंग का सदस्‍य मानते हुए उसके दो असलहा लाइसेंसों को जिलाधिकारी से रद्द करने की सिफारिश की थी। यह सिफारिश उन्‍होंने इसी साल एक दस सितंबर को की थी।

ये भी पढ़े-गोरखपुर में प्रॉपर्टी डीलर को दौड़ाकर सड़क पर गोलियों से छलनी कर दिया

इसी सिफारिश पर कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी एमपी सिंह ने गणेश दत्‍त के दो हथियारों 1. शस्त्र लाइसेंस नम्बर – 1219/P । ( एन0पी0बी0 राइफल .315 बोर नं0- AB-005639 ) 02. शस्त्र लाइसेंस नम्बर – 1799/P । (एन0पी0बी0 पिस्टल .32 बोर नम्बर – CO-2050) को निलंबित कर दिया।

कहा जाता है कि कभी बाइक पर चलने वाले रौजा निवासी गणेशदत्‍त मिश्र की इतनी हैसियत नहीं थी कि वह असलहा खरीद सके। लेकिन मुख्‍तार गैंग से जुड़ने के बाद वह अकूत संपत्ति का मालिक बन गया। गणेश के बारे में कहा जाता है कि जब गाजीपुर के तत्‍कालीन एएसपी उदय शंकर जायसवाल की लंका बस स्‍टैंड पर मुख्‍तार से मुठभेड़ हुई थी।

उस समय जान बचाने के लिए भागे मुख्‍तार को इसी गणेश मिश्र ने अपनी बाइक पर सुरक्षित जिलाधिकारी आवास पर पहुंचाया था। तभी से गणेश मुख्‍तार के करीब आ गया था। और यहीं वह अकूत संपत्ति का मालिक बनता गया और अब वह मशहूर प्रॉपर्टी डीलर बन गया है।